दास्तान-गो: प्रेम नाम है मेरा, प्रेम चोपड़ा… मैं वो बला हूं, जो शीशे से पत्थर को तोड़ता हूं!

Image credit: Internet

Daastaan-Go ; Prem Chopra Birth Anniversary : यह जानकर कोई चौंक सकता है कि प्रेम चोपड़ा साहब फिल्मों में ‘खलनायक’ नहीं, हीरो बनने आए थे. दिखने में अच्छे-खासे रहे. अदाकारी भी बढ़िया. कुछ फिल्मों में बतौर हीरो दिखे भी. जैसे- 1960 की पंजाबी फिल्म ‘चौधरी करनैल सिंह’. बताते हैं, उस फिल्म को देखकर मशहूर फिल्मकार महबूब खान (जिन्होंने ‘मदर इंडिया’ बनाई) ने उन्हें बतौर हीरो अपनी अगली फिल्म में लेने का वादा कर दिया था. लेकिन   Read More ...